Advertisement

मोदी सरकार की ये स्कीम आपको बनाएगी करोड़पति, सिर्फ 500 रुपये में खुलवाएं खाता, देखें डिटेल

Advertisement

मोदी सरकार की ये स्कीम आपको बनाएगी करोड़पति, सिर्फ 500 रुपये में खुलवाएं खाता, देखें डिटेल

मोदी सरकार की ये स्कीम बनाएगी करोड़पति: पब्लिक प्रोविडेंट फंड में लोगों के बढ़ते रुझान का सबसे बड़ा कारण सरकारी समर्थन के कारण जोखिम मुक्त होना है। इसमें पीपीएफ में जमा अधिकतम 1.5 लाख रुपये तक की नकदी कर मुक्त है, परिपक्वता के समय या इससे पहले स्थितिजन्य निकासी के समय प्राप्त ब्याज पर कोई कर नहीं है! 15 साल की लॉकिंग अवधि, एफडी से ज्यादा रिटर्न और टैक्स छूट के कारण इसकी मांग बढ़ गई है

मोदी सरकार की ये स्कीम आपको बनाएगी करोड़पति!

सार्वजनिक भविष्य निधि खाता खोलना हर भारतीय के लिए फायदेमंद है! इसे केवल एक बार ही खोला जा सकता है,अगर इसे किसी नाबालिग के लिए खोलना है तो केवल अभिभावक ही खाते का संचालन कर सकेंगे. एनआरआई अभी इसे नहीं खोल पाएंगे, लेकिन अगर आपने पहले ही पीपीएफ खाता खोल लिया है तो इसे 15 साल तक चलाने में कोई दिक्कत नहीं है

पब्लिक प्रोविडेंट फंड कहां और कैसे शुरू करें

पब्लिक प्रोविडेंट फंड खाता देश के किसी भी लोकप्रिय सरकारी या निजी बैंक में शुरू किया जा सकता है। इसके अलावा इसके खाते डाकघर में भी खोले जाते हैं। इसमें हर साल न्यूनतम 500 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किये जा सकते हैं! जिसे कम से कम एक और अधिकतम 12 किश्तों में डाला जा सकता है

पैसा कैश, चेक, डीडी या ऑनलाइन भी ट्रांसफर किया जा सकता है। पीपीएफ खाता खोलने के लिए फॉर्म-1, दो फोटो, पैन कार्ड, आईडी और एड्रेस प्रूफ की जरूरत होती है। अगर आपका पहले से ही बैंक में खाता है तो ऑनलाइन ऑपरेशन का विकल्प मिलेगा. इस खाते को एक बैंक से दूसरे बैंक, शाखा और डाकघर में भी ट्रांसफर किया जा सकता है.

मोदी सरकार की ये स्कीम बनाएगी करोड़पति, देखें पब्लिक प्रोविडेंट फंड के लिए देना होगा कितना समय

पीपीएफ खाते के लिए कम से कम 15 साल की लॉकिंग अवधि होती है, यानी इसे खोलने के बाद आप कुछ आपातकालीन स्थिति को छोड़कर 15 साल से पहले पैसा नहीं निकाल सकते हैं!

इसकी परिपक्वता अवधि पूरे 15 वित्तीय वर्ष है, यदि आप आज जुलाई में सार्वजनिक भविष्य निधि खाता शुरू करते हैं, तो आपका वित्तीय वर्ष अगले वर्ष अप्रैल से माना जाएगा, हालांकि खाते की राशि पर ब्याज का लाभ जुलाई से ही शुरू हो जाएगा! 15 साल पूरे होने पर इस खाते को पांच साल के लिए बढ़ाया भी जा सकता है.

पीपीएफ में कितना रिटर्न?

पीपीएफ खाते पर फिलहाल औसत ब्याज करीब आठ फीसदी है, यह घटता-बढ़ता रहता है, जिसे केंद्र सरकार हर तिमाही तय करती है. पिछले दो वर्षों में इसका रिटर्न साढ़े सात से नौ फीसदी रहा है, मासिक चक्रवृद्धि के कारण पब्लिक प्रोविडेंट फंड खाते की न्यूनतम राशि पर महीने की पांच तारीख से आखिरी दिन तक ब्याज मिलता है!

ऐसे होगी पब्लिक प्रोविडेंट फंड से निकासी

प्री मेच्योर विदड्रॉल पर आप दो तरह से पैसा निकाल सकते हैं! आप पहले, तीसरे से छह वित्त वर्ष तक लोन ले सकते हैं, जिसमें पीपीएफ खाते पर मिलने वाले ब्याज से दो फीसदी ज्यादा ब्याज देना होगा! यदि सात से 15 वर्ष के बीच ऋण की आवश्यकता है, तो आंशिक निकासी का विकल्प भी सार्वजनिक भविष्य निधि में उपलब्ध है

https://jobguru24.in/2023/08/08/%e0%a4%af%e0%a5%82%e0%a4%aa%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a4%bf%e0%a4%b8%e0%a4%be%e0%a4%a8-%e0%a4%95%e0%a4%b2%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be%e0%a4%a3-%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%9c%e0%a4%a8%e0%a4%be-%e0%a4%af-2/

Leave a Comment

x